क्या आप भी इस दिशा में बैठकर खाना खाते है? हो सकता है नकारात्मक प्रभाव

क्या आप भी इस दिशा में बैठकर खाना खाते है

क्या आप भी इस दिशा में बैठकर खाना खाते है? हो सकता है नकारात्मक प्रभाव

Astrology Feb 3, 2021 No Comments

हर एक दिशा का हमारे जीवन में सर्वाधिक महत्व होता है। अगर आप सही दिशा में चलते है तो आप अपनी मंजिल तक पहुंचने में कामयाब होते है वही अगर दूसरी ओर अगर आप गलत दिशा से जाते है तो भटक जाते है।

अक्सर हमने वास्तु शास्त्र पढ़ा है लेकिन वो होता है घर, मंदिर और ऑफिस के लिए पढ़ा होगा। वास्तु शास्त्र में भोजन करने  के लिए भी दिशाओं का पालन करना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि अगर व्यक्ति सही दिशा में बैठकर भोजन करता है तो परिवार के सभी सदस्यों की सेहत अच्छी बनी रहती है। लेकिन अगर आप गलत दिशा में बैठकर भोजन किया जाए तो इससे कई समस्याएँ पैदा होने लगती है।

ज्योतिष के अनुसार ऐसा माना जाता है कि अगर आप आयुष्य आरोग्य की कामना करते हो तो उस व्यक्ति को हमेशा पूर्व दिशा की ओर मुख करके भोजन करना चाहिए। अगर किसी रोगी व्यक्ति को अगर पूर्व दिशा की ओर मुख करके पथ्य-आहार दिए जाते हैं तो उसे तेजी से स्वास्थ्य लाभ होता है।

अगर आप यश की प्राप्ति करना चाहते है तो उन व्यक्तियों को दक्षिण दिशा की ओर मुँह करके भोजन करना चाहिए। दक्षिण दिशा की ओर मुँह करके भोजन करने से मान सम्मान की असाधारण वृद्धि होती है। लेकिन माता पिता जीवित हो उन्हें दक्षिण दिशा की ओर मुख करके भोजन नहीं करना चाहिए। इनके लिए पूर्व या पश्चिम दिशा की ओर मुँह करके भोजन करना स्वास्थ्यवर्धक माना जाता है।

किन बातों का रखे विशेष ध्यान?

  • नैत्रदत्य कोण की तरफ मुंह करके भोजन करने से पाचन शक्ति कमजोर होती है तथा पेट की अनेक बीमारियां हो सकती हैं।
  • आग्रेय कोण की तरफ मुंह करके भोजन करने से अनेक सैक्सगत बीमारियां हो सकती हैं तथा स्वप्नदोष, ल्यूकोरिया, प्रदर रोग आदि में भी वृद्धि हो सकती है।
  • वायव्य कोण में बैठकर भोजन करने से वायु विकार दोष उत्पन्न हो सकते हैं। भोजन हमेशा पालथी मारकर आसन पर बैठ कर ही करना चाहिए।
  • कुर्सी पर बैठ कर टांग हिलाते हुए भोजन करना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक माना जाता है।

Like and Share our Facebook Page.